Sat. Jun 22nd, 2024

हरिद्वार(ब्यूरो,TUN) कहते है की पानी जीवन के लिए बहुत जरूरी है इसके बगैर इंसान, पशु, पक्षी ,पेड़ ,पौधे जीने की कल्पना भी नहीं कर सकते लेकिन जब यह अपना रूद्र रूप धारण कर लेता है तो चारों तरफ तबाही का मंजर देखने को मिलता है जैसा कि आप सभी यह जानते हैं उत्तराखंड के अलावा दूसरे राज्य में भी आसमानी आफत कहर बनकर हर जगह अपने निशान छोड़ रही है ऐसा ही कुछ नजारा हमें बहादराबाद के पतंजलि और अहमदपुर ग्रांड को जोड़ने वाली सड़क मार्ग पर ग्रामीण क्षेत्र मैं दिखाई देने को मिला जहां पर बारिश के कारण बरसाती नाला एक बड़ी नदी में तब्दील हो गया और बरसाती नाले के ऊपर बनी अस्थाई पुलिया भी पानी के उस प्रकोप का सामना नहीं कर पाई और वह भी पानी के साथ बह गई जिसके कारण कहीं गांव की एक दूसरे से कनेक्टिविटी खत्म हो गई यह आपदा किसानों के खेत और फसलों को तबाह कर गई वहीं स्थानीय ग्रामीणों को जान पर खेलकर के इस नदी को मजबूरन पार करना पड़ रहा है

आपदा की चपेट में स्कूल

पतंजलि और अहमदपुर ग्रांट के गांव को जोड़ने वाली यह सड़क पर एक स्कूल भी है इस रास्ते के तबाह होने से स्कूल में भी बच्चों को आने जाने में दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है वहीं इसी मार्ग पर बने एक पब्लिक स्कूल में कार्यरत राधिका ने बताया कि बरसात के पानी से पुलिया बनी थी वह टूट गई है जिसके कारण हम लोगों को बहुत दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है क्योंकि अगर हमें नेशनल हाईवे पर जाना है तो कई किलोमीटर घूम करके जाना पड़ता है इसलिए हम प्रशासन से गुहार लगाते हैं जल्द से जल्द हमारी मदद कर यहां पर एक पुल का निर्माण किया जाए

लोगों के खेत और फसलें तबाह
स्थानीय निवासी ऋषि पाल का कहना है कि अहमदपुर ग्रांट मार्ग पर बरसाती नाला है जिसमें अगर ऊपर बारिश तेज जाती है तो इसमें पानी भर भर कर चलता है जिससे कि इधर गांव के लोग एक तरफ और दूसरे गांव के लोग दूसरी तरफ रह जाते हैं इस मार्ग पर कई फैक्ट्रियां और स्कूल भी है जिनमें यहां पर काम करने वाले कर्मचारी अधिक पानी आने से दिक्कत में आ जाते हैं अभी अधिक बारिश होने से इसमें बहुत पानी आया जिससे कि किसानों के खेतों का कटान हो गया और साथ ही उनकी फसलों को भी बहुत नुकसान हुआ है हम प्रशासन से मांग करते हैं कि यहां जल्द ही एक पुलिया का निर्माण किया जाए

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You missed