Wed. Jun 19th, 2024

देहरादून (ब्यूरो,TUN ) ऑल मीडिया जर्नलिस्ट्स एसोसिएशन उत्तरांखड ने आज अपने केंद्रीय संगठन नेशनल यूनियन ऑफ जर्नलिस्ट्स (इंडिया) के मेंडेट के अनुरूप पत्रकारों के स्वतंत्रतापूर्वक अपने दायित्व वहन में सरकारों की ओर से अपेक्षित सुरक्षा न मिलने पर रोष व्यक्त करते हुए जिलाधिकारी देहरादून के माध्यम से राष्ट्रपति श्रीमती द्रोपदी मूर्मू को ज्ञापन भेजा जिसमे दिल्ली राज्य तथा उत्तर प्रदेश के छह प्रकरणों का उल्लेख करते हुए अनुरोध किया है कि इन दोनों तथा अन्य राज्य सरकारों को पत्रकारों को निर्भीकतापूर्वक कर्तव्य निर्वहन योग्य वातावरण उपलब्ध कराने का निर्देश दें ताकि लोकतंत्र में जनता को पारदर्शिता के लाभ मिल सकें। ज्ञापन में कहा गया है कि पत्रकारों को अपने कर्तव्य निर्वहन में उनकी जान पर बन आई है जो स्वस्थ लोकतंत्र के लिए कतई शुभ और श्रेयस्कर नहीं है।

अमजा के प्रदेश महासचिव रवींद्रनाथ कोशिश नहीं ज्ञापन के बारे में बताएं

वही ऑल मीडिया जर्नलिस्ट एसोसिएशन उत्तराखंड के प्रदेश महासचिव श्री रविंद्र नाथ कौशिक ने कहा कि हमने ज्ञापन में निम्नलिखित अनुरोध किए हैं उपरोक्त विषय में सादर अनुरोध के साथ अबगत कराना हैं कि भारत की आजादी से लेकर आज तक की सरकारों ने पत्रकारों की सुऐ सुरक्षा पर न ध्यान दिया और न कोई सकारात्मक कदम उठाये, परिणाम स्वरूप देश में पत्रकारों पर तमाम तरह से अत्याचार किया जाता रहा, अभद्रता, मारपीट, हमले, हत्या, फर्जी मुकदमे जैसे तमाम उत्पीडन का पत्रकार सदैव शिकार हुआ और वर्तमान में भी हो रहा हैं | स्थिति कुछ ऐसी हैं कि इन तमाम तरह के उत्पीडन, अत्याचार और अनदेखी से पत्रकारों और उनके परिवारों को जहाँ शारीरिक, मानसिक और आर्थिक हानि उठानी पड़ी हैं ,वहीं पत्रकार समुदाय में भय भी बना हुआ हैं जो न सिर्फ पारदर्शी पत्रकारिता के लिये घातक हैं बल्कि लोकतंत्र के लिये भी हानिकारक हैं | अत: आपसे विनम्र आग्रह हैं कि मजबूत एवं सुरक्षित लोकतंत्र के लिये पत्रकारहित में सहयोगात्मक कदम उठाने का कष्ट करें, साथ ही निम्न प्रकरणों को गम्भीरता से लेते हुये सम्बन्धितों को आवश्यक कार्यवाई हेतु निर्देश जारी करने का भी कष्ट करें |

ज्ञापन में 6 बिंदुओं पर जोर दिया गया

सूचनार्थ एवं आवश्यक कार्यवाई हेतु निम्न पत्रकार प्रकरण सादर सेवा में प्रेषित हैं –
1- अयोध्या में समाचार प्रकाशित/प्रसारित करने पर पत्रकार की दरोगा ने बर्बर मारपीट कर उसके विरुद्ध झूठा मुकदमा दर्ज किया। प्रकरण की अन्य जनपद के पुलिस अधिकारी से त्वरित जाँच एवं दोषियों के खिलाफ कठोर कार्यवाई करनें के आदेश जारी किये जायें | प्रकरण में पीड़ित पत्रकार धर्मेंद्र तिवारी थाना बीकापुर अयोध्या उत्तर प्रदेश है।
2- पीलीभीत में पुलिस के पत्रकारों को बंधक बना मारपीट प्रकरण में अन्य जनपद के पुलिस अधिकारी से त्वरित जाँच एवं दोषियों के खिलाफ कठोर कार्यवाई करनें के आदेश जारी किये जायें | मामला थाना बीसलपुर पीलीभीत उत्तर प्रदेश का है।
3- मुख्यमंत्री उत्तर प्रदेश सरकार योगी आदित्यनाथ के बरेली में आयोजित कार्यक्रम की कवरेज को जाते पत्रकार पति-पत्नी एवं दिव्यांग बच्चियों पर जानलेवा हमला करने वाल हमलावरों एवं पक्षपात करने वाली थाना बारादरी पुलिस प्रकरण में अन्य जनपद के पुलिस अधिकारी से त्वरित जाँच एवं दोषियों के खिलाफ कठोर कार्यवाई के आदेश जारी किये जायें | पीड़ित पत्रकार संगीता सिंह और पति नीरज सिंह हैं।
4- अलीगढ़ में रसोई गैस की कालबाजारी की खबर बनाते समय दैनिक राजपथ से मान्यता प्राप्त पत्रकार अखलेश वशिष्ठ और साथी पत्रकार पर जानलेवा हमला कर मारपीट, लूटपाट और लिखित शिकायत के बाद भी पीड़ित पत्रकार का मुकदमा न दर्ज कर हमलावरों की तरफ से कुआर्सी थाना पुलिस के फर्जी मुकदमा दर्ज करने के प्रकरण की जाँच अन्य जनपद पुलिस से कराने के आदेश जारी किये जायें |
5- दिल्ली के भजनपुरा थाना इलाके में हुई पत्रकार रवि तिवारी उर्फ़ जानी तिवारी की संदिग्ध मौत मामले की जाँच स्थानीय थाना पुलिस से न कराकर उच्च अधिकारी से कराई जाये |
6- हरदोई के दो पत्रकारों पर किये गये पुलिस द्वारा उत्पीड़न प्रकरण में दोषियों के विरुद्ध कठोर कार्यवाई करने के आदेश जारी किये जायें ।

उपरोक्त सभी बिंदुवार प्रकरणों का संज्ञान लेकर सकारात्मक आदेश और भविष्य में देश के पत्रकारों व पत्रकार परिवारों की सुविधा सुरक्षा हेतु विचार मंथन कर सहयोगात्मक निर्देश जारी करने का कष्ट करें, ताकि लोकतंत्र की सुरक्षा और मजबूती में पत्रकार समाज पत्रकारिता के प्रति स्वतन्त्रता व निडरता से समर्पित रह सकें | पत्रकार समाज आपका सदैव ऋणी रहेगा।

ज्ञापन देने वालों में

ज्ञापन अपर जिलाधिकारी (प्रशासन) डॉक्टर शिवकुमार बरनवाल को ऑल मीडिया जर्नलिस्ट्स एसोसिएशन उत्तरांखड के महामंत्री रवीन्द्रनाथ कौशिक, अनुशासन समिति सदस्य गिरधर गोपाल लूथरा, मंडल महिला संयोजक रेणु सेमवाल, प्रदेश कार्यकारिणी सदस्य श्री रुद्रप्रताप सिंह तथा जिला महामंत्री देहरादून आशीष कुमार ने सौंपा। डॉक्टर बरनवाल ने आश्वासन दिया कि ज्ञापन यथावत राष्ट्रपति कार्यालय प्रेषित कर दिया जायेगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You missed